आवश्यक सूचना
कलेक्टर एक्सप्रेस
कलेक्टर एक्सप्रेस
कलेक्टर एक्सप्रेस
Collector Express

कलेक्टर एक्सप्रेस

कलेक्टर एक्सप्रेस के माध्यम से जिले के समस्त विभाग प्रमुख कलेक्टर के नेतृत्व में जिले के दूरस्थ ग्रामों का भ्रमण करते हैं | कलेक्टर होशंगाबाद द्वारा चौपाल लगाकर ग्रामीणों के द्वार पहुँच कर, उनकी समस्याओं का निराकरण करते हैं | ग्राम के प्रत्येक वृद्धजन, महिला, युवा, किसान एवं बच्चों की सुनवाई की जाती है | एक साथ जिला, जनपद एवं ग्राम स्तरीय एकत्रित होकर सुनवाई एवं निराकरण करते हैं | शासन की समस्त योजनाओं का क्रियान्वयन की समीक्षा की जाती है | समस्त योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को दी जाती है | शिकायतों का निराकरण मौके पर ही किया जाता है | शेष शिकायतों की समीक्षा प्रति सोमवार की बैठक में विशेष तौर से की जाती है |

659,350

कुल भ्रमण

326,575

शिकायतें प्राप्त

651,506

शिकायतें निराकृत

356,145

शिकायतें लंबित

हाल में भ्रमण

  • 13

    Dec
    जनपद पंचायत बनखेड़ी
    • ग्राम जुन्हेटा एवं मल्हनबाड़ा

    कलेक्टर अविनाश लवानिया शुक्रवार को अधिकारियों के साथ बस में सवार होकर पिपरिया के ग्राम खापरखेड़ा, पौसेरा पहुँचे एवं सांडिया घाट पहुंचकर नर्मदा नदी में एंजोला (जलकुंभी) को निकालने के लिए अधिकारियो के साथ मिलकर श्रमदान भी किया। श्रमदान करते हुए कलेक्टर ने सभी व्यक्तियो को प्रेरित किया कि वे श्रमदान अवश्य करे और माँ नर्मदा नदी को साफ व निर्मल बनाए रखे ताकि 12 महिनो इसका जल प्रवाहमान व निर्मल बना रहे।

  • जनपद पंचायत होशंगाबाद
    • टिगरिया एवं खरखेड़ी

    कलेक्टर अविनाश लवानिया शुक्रवार को अधिकारियों के साथ बस में सवार होकर पिपरिया के ग्राम खापरखेड़ा, पौसेरा पहुँचे एवं सांडिया घाट पहुंचकर नर्मदा नदी में एंजोला (जलकुंभी) को निकालने के लिए अधिकारियो के साथ मिलकर श्रमदान भी किया। श्रमदान करते हुए कलेक्टर ने सभी व्यक्तियो को प्रेरित किया कि वे श्रमदान अवश्य करे और माँ नर्मदा नदी को साफ व निर्मल बनाए रखे ताकि 12 महिनो इसका जल प्रवाहमान व निर्मल बना रहे।

    03

    Jan
  • 20

    Jan
    बाबई जनपद पंचायत
    • झालोन एवं गुलौन

    कलेक्टर अविनाश लवानिया शुक्रवार को अधिकारियों के साथ बस में सवार होकर पिपरिया के ग्राम खापरखेड़ा, पौसेरा पहुँचे एवं सांडिया घाट पहुंचकर नर्मदा नदी में एंजोला (जलकुंभी) को निकालने के लिए अधिकारियो के साथ मिलकर श्रमदान भी किया। श्रमदान करते हुए कलेक्टर ने सभी व्यक्तियो को प्रेरित किया कि वे श्रमदान अवश्य करे और माँ नर्मदा नदी को साफ व निर्मल बनाए रखे ताकि 12 महिनो इसका जल प्रवाहमान व निर्मल बना रहे।